दो टके की ‘टिकी टका’ : रूस ने बेवकूफ़ बनाया !

दो टके की ‘टिकी टका’ : रूस ने बेवकूफ़ बनाया !

राजेंद्र सजवान ,
चूँकि मेजबान रूस ने टिकी टका की काट खोज ली थी इसलिए 1114 पास देने के बावजूद स्पेन को हार का मुंह देखना पड़ा| जवाब मे रूस के कुल पास मात्र 290 ही थे | अर्थात अपने टिकी टका स्टाइल मे बॉल पर पूरी तरह नियंत्रण रखने के बाद भी स्पेन गोल नहीं कर पाया | रूस जो चाहता था उसने स्पेन को पेनल्टी शूट आउट मे खींच कर और जीत कर दिखा दिया |

टिकी टका कलात्मक फुटबॉल की एक ऐसी पद्वति है जिसका अभ्यास ग्रासरुट से किया जाता है | एक चौकोर या वृताकार क्षेत्र मे 4-6 खिलाड़ी बीच मे खड़े एक खिलाड़ी से बचा कर बॉल को एक दूसरे की ओर बढ़ाते हैं| ऐसे अभ्यास से बॉल नियंत्रण ,एकजुटता,सहीपास और कुशलता बढ़ती है | स्पेन मे इस कला का जन्मदाता बार्सिलोना क्लब को माना जाता है जिसने अपनी इसी कलाकारी के दम पर अनेक ट्राफियाँ जीती हैं | अन्य ला लीगा क्लब भी इसका अनुसरण करते आए हैं |

टिकी टका को दूसरे शब्दों मे बेवकूफ़ बनाने और छकाने की शैली भी कह सकते हैं |लेकिन रूस ने इस कला की हवा निकाल कर रख दी | उसने भले ही रक्षात्मक खेल खेला किंतु मौका पड़ने पर दबाव बनाया और एक गोल भी किया,जबकि स्पेन का गोल रूसी खिलाड़ी के पाँव से निकला आत्मघाती था | कहने का तात्पर्य यह है कि अर्जेंटीना,पुर्तगाल और जर्मनी कीतरह छोटे पास देने की रणनीति स्पेन पर भी भारी पड़ी| बेशक, स्पेन की हार ने टिकी टका पर सवाल खड़े कर दिए हैं|

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.