किसी भी हद तक जा सकता है पाकिस्तान !

किसी भी हद तक जा सकता है पाकिस्तान !

राजेंद्र सजवान ,
जकार्ता एशियाड मे भारत यदि किसी खेल मे स्वर्ण पदक का सबसे प्रबल दावेदार है तो वह कबड्डी  है और दूसरा पदक दिलाने वाला खेल हॉकी है | ख़ासकर, पुरुष हॉकी मे भारत के लिए कोई ख़तरा नज़र नहीं आता| लेकिन पाकिस्तान हर हाल मे भारत को नीचा दिखाने की तलाश मे रहेगा और कोई भी रणनीति अपना सकता है| हो सकता है खेल भावना को भी ताक पर रख दे |

फिरभी, भारतीय टीम की दावेदारी इसलिए मज़बूत है चूँकि हाल ही मे संपन्न चैम्पियंस ट्राफ़ी मे भारत ने शानदार प्रदर्शन किया है | भले ही फाइनल मे आस्ट्रेलिया से हार गये पर दोनों ही टीमें लगभग बराबर दमखम वाली हैं| वैसे भी एशियाई खेलों मे भारत को अपने परंपरागत प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से कड़ी चुनौती मिलेगी| कोरिया ,जापान,मलेशिया भी कुछ मुकाबला कर सकती हैं पर भारतीय खिलाड़ियों की वर्तमान फार्म का जवाब शायद ही दे पाएँ| मुख्य कोच हरिंदर सिंह संभलकर बयान दे रहे हैं और कह रहे हैं कि भारतीय खिलाड़ी अत्यधिक आत्मविश्वास से बचें और किसी भी टीम को कमजोर ना आँकें| ख़ासकर, जापान और पाकिस्तान कुछ भी कर सकते हैं|

पिछले कुछ मुकाबलों मे भारत ने पाकिस्तान को आसानी से हराया किंतु एशियाड और ओलंपिक मे पाकिस्तान के तेवर बदले बदले हो सकते हैं| भारत के विरुद्ध घुटने नहीं टेकने की उसकी ज़िद मैच के नतीजे बदल सकती है | हालाँकि भारत ने 2014 के  एशियाड मे उसे हराया | एक और जीत दर्ज कर भारतीय हॉकी टीम 2020 के टोक्यो ओलंपिक मे सीधा प्रवेश पा सकती है | ऐसे मे भारत को हर कदम फूँक कर रखना होगा| दोनों देशों के बिगड़ते राजनीतिक रिश्ते और सीमा पर चल रही मार काट से खिलाड़ी खेल भावना से भी आगे बढ़कर खेल सकते हैं | ऐसे मे भारतीय खिलाड़ियों को होश से काम लेना होगा| सिर्फ़ जोश काफ़ी नही रहेगा |

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.