कप्तान से किंग :अब सीमा पर क्रिकेट…….!

कप्तान से किंग :अब सीमा पर क्रिकेट…….!

राजेंद्र सजवान,
सचिन यदि भारत रत्न हैं तो हमारे पास इमरान ख़ान हैं, जोकि पाकिस्तान का कोहिनूर हैं| तक़रीक-ए-इंसाफ़ पार्टी के एक वरिष्ठ नेता और क्रिकेट प्रेमी का यह बयान सार्थक हो गया है |वाकई इमरान ख़ान एक कोहिनूर की तरह चमक बिखेरते हुए पाकिस्तान के शीर्ष राजनीतिक ओहदे तक पहुँचे हैं | जिस शख्सियत पर शुरू से अनेक आरोप लगे, उसने आख़िरकार वह मुकाम पा लिया है जिसकी उसे हमेशा से भूख रही| पहले महान क्रिकेटर और अब किंग आफ पाकिस्तान कहे जा रहे इमरान ने जीवन मे बड़े उतार चढ़ाव देखे और तमाम आरोपों को दरकिनार कर वहाँ जा पहुँचे हैं,जहाँ दुनियाँ का कोई भी क्रिकेट खिलाड़ी नहीं पहुँच पाया है |

लेकिन क्या इमरान ख़ान के प्रधानमंत्री बनने के बाद भारत -पाक क्रिकेट रिश्ते बहाल हो पाएँगे और दोनों देश एक-दूसरे के घर पर क्रिकेट खेल पाएँगे ? औरक्या सीमा पर क्रिकेट खेली जाएगी ?फिलहाल यह सवाल पूछना अभी जल्दबाज़ी होगी क्योंकि बड़ा मसला दोनों देशों के बिगड़ते रिश्ते और सीमा पर लगातार हो रही मारकाट को रोकना है | लेकिन इमरान ने चुनाव जीतने के बाद वही राग अलापना शुरू कर दिया है जोकि उनसे पहले के राजनेता और भारत के कट्टर दुश्मन अलापते आए हैं | दिग्गज क्रिकेटर,प्ले ब्यॉय,कई बीवियाँ रखने के शौकीन और शातिर दिमाग़ के मालिक इमरान ख़ान विदेशों मे पढ़े लिखे और भारत के विरुद्ध अपनी कूटनीति का इस्तेमाल उन्होने खिलाड़ी जीवन से ही शुरू कर दिया था |

भारतीय क्रिकेट प्रेमी उस दौर को कैसे भूल सकते हैं जब इमरान ख़ान रिचर्ड हैडली,इयान बॉथम और कपिल देव अपनी घातक गेंदों से बल्लेबाज़ों को हैरान परेशान कर रहे थे| वर्षों तक उनके बीच तुलना की जाती रही| बेशक, अपनी दूरदर्शिता और आल राउंड प्रदर्शन से इमरान बेहतर स्थिति मे थे| उनकी कप्तानी को दुनियाभर मे सराहा गया| 1992 की विश्व कप जीत ने उन्हें महानतम कप्तान बनाया तो पिछले 22 सालों के कड़े संघर्ष के बाद पाकिस्तान के किंग बन कर उभरे हैं| भारतीय क्रिकेट प्रेमियों ने उन्हें हमेशा प्यार दुलार दिया | उनके लटके झटकों पर मरने वाले भारत मे भी रहे हैं|

पाकिस्तान के इस महानतम कप्तान ने अपने देश के लिए 88 टेस्ट खेले,3807रन बनाए और 362 विकेट लिए | 1992 जब देश को विश्व चैपियन बनाया ,तब 39साल के थे| एक बड़ी बात यह रही कि कप्तान रहते कभी भी भारत से कोई टेस्ट मैच नहीं हारे|देखना यह होगा कि किंग बनने के बाद कैसे तेवर दिखाते हैं| उम्मीद कम है फिरभी माना यह जा रहा है कि दोनों देशों के राजनीतिक और क्रिकेट रिश्ते सुधरेंगे, सीमा पर अमन चैन कायम होगा और क्रिकेट खेली जाएगी |

Advertisements

4 comments

  1. यह उस समय की बात है जब इमरान खान क्रिकेटर थे राजनेता नहीं। एक साक्षात्कार में उनसे पूछा गया कि क्रिकेट से संन्यास के बाद वह करना चाहेंगे तो उन्होंने जवाब दिया था, ”मैं भारत में पाकिस्तान का उच्चायुक्त बनना पसंद करूंगा और दोनों देशों के संबंध मधुर बनाने के प्रयास करूंगा।” लेकिन इमरान महत्वाकांक्षी थे और राजनेता बन गये। उन्हें उपमहाद्वीप की राजनीति का मर्म समझने में थोड़ा समय लगा। जब वह समझे तो इमरान पूरी तरह से बदल चुके थे। इस बार के चुनावों तो इमरान ने सारी हदें पार की और भारत को गरियाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। अब सुना है कि वह प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं। उन्हें सेना का समर्थन हासिल है और कूटनीतिज्ञों की राय है कि यह भारत—पाकिस्तान के संबंधों के लिये अच्छे संकेत नहीं हैं। इससे आप समझ सकते हैं कि इमरान कितने बदल गये हैं। वह क्यों बदले यह समझना जरूरी है। इमरान को बदला दोनों देशों के लोगों की मानसिकता ने। भारतीयों ने पाकिस्तान को हमेशा अपना नंबर एक दुश्मन माना और पाकिस्तानियों ने भारत को। राजनेताओं ने इसे खूब भुनाया और इमरान अब क्रिकेटर नहीं, खांटी राजनेता हैं। नुकसान दोनों देशों की जनता को हुआ। दोनों देशों के राजनेताओं के लिये कश्मीर ‘मीठी चासनी’ है जिसमें इमरान भी डुबकी लगाने लगे हैं इसलिए आगे भी कुछ नहीं बदलेगा। हम पाकिस्तान को गरियाता रहेंगे और वे हमें। माहौल तनावपूर्ण था, तनावपूर्ण है और तनावपूर्ण रहेगा। हो सकता है कि इमरान के बदले रूप में तनाव और बढ़े और ऐसे में भारत को अधिक सावधानी बरतनी होगी।

    Liked by 1 person

    1. सच बताऊंतो एक क्रिकेट खिलाड़ी के रूप मे मुझे इमरान बेहद पसंद रहे हैं | देखना हैकि दूसरी पारी मे कैसा खेलते हैं |

      Like

  2. Bhai saab gm, aap nei kum shado mei Imran khan ki biogry batayei hai, good hai.
    Par mere manna hai jo banda fauz kei sahrei satta mei aaya ho ,ussei zayda aman chen ki umeed nhi rakhi jaa skti……phir imran ki sakshiyat koi aam aadmi jassi nhi, umkei nikhao ki ek lambi list hai, hindustani cricket rs kei saath bhi unkei koi ghnisht taie nhi rhi hai……vo ek dictator soch ka inssan hai…..halat inkei samay mei sudharnei kei koi chance nhi hai.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.