खरे सोने से चाँदी के पदक !

खरे सोने से चाँदी के पदक !

राजेंद्र सजवान,
जकार्ता एशियाई खेलों के आठवें दिन तक भारतीय खिलाड़ियों ने यूँ तो सात स्वर्ण पदकों के अलावा दस रजत पदकों पर भी अपना नाम दर्ज किया लेकिन जिन दो पदकों की हमेशा चर्चा की जाती रहेगी वह निश्चित तौर पर 100मीटर की फर्राटा दौड़ मे उड़ीसा की दुतिचन्द और 400 मीटर मे असम की हिमा दास के पदक रहे| जानकारों और एक्सपर्ट्स की माने तो दुति और हिमा के चाँदी के पदक सुनहरे पन्नों पर लिखने लायक हैं|

दुति और हिमा लगभग एक जैसी परिवारिक परिस्थितियों से जूझती हुई आगे बढ़ी हैं| दोनों ग़रीब परिवारों से हैं और उन्हें अपेक्षाकृत प्रतिकूल हालात से गुज़रना पड़ा|दुति पर लिंग बदलने का आरोप लगा|उसे अपने गाँव,शहर,देश और यहाँ तक कि दुनियाभरके आरोप लगाने वालों से निपटना पड़ा |अंततः वह अंतरराष्ट्रीय कोर्ट से पाक सॉफ करार दी गई |वरना एक समय ऐसा भी था कि उसका सच्चाई और अच्छाई से विश्वास उठ गया थाऔर वह एथलेटिक से हटने और जीवन के बारे मे गंभीर फ़ैसला लेने की सोच रही थी|हिमा की ग़रीबी बार -बार आड़े आई फिरभी वह डटी रही|

दुति और हिमा के पदकों मे समानता यह है कि दोनों बाजी मारते मारते चूक गईं| दोनों ने राष्ट्रीय रिकार्ड बनाए,अपना श्रेष्ठ दिया और एशियाई खेलों का रिकार्ड भी तोड़ा| ऐसा प्रदर्शन सचमुच किसी स्वर्ण पदक से कमतर नहीं कहा जा सकता| दुति के साथ पहली चार धाविकाओं के बीच काँटे की टक्कर थी| बहरीन की विजेता ने 11.30 सेकेंड का समय निकाला तो दुति ने 11.32सेकेंड मे दौड़ पूरी की| परिणाम फोटो फिनिश द्वारा घोषित हुए| हिमा दास ने भी अपनी श्रेष्ठ दौड़ दौड़ी और यहाँ भी मुकाबला काँटे का रहा|

Advertisements

One comment

  1. Thank you Sajwanji for writing constaintly about sports not only in newspaper but also in ur blogs which is more reachable these days .
    These medals, moments, award , reward and recognition are not only effort of sportsperson but it their entire life.
    Players sacrifice their social, personal life in career like sports where things are uncertain .

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.