राष्ट्रधर्म निभाना खिलाड़ियों से सीखें

राजेंद्र सजवान
भले ही देश के नेता और तमाम राजनीतिक पार्टियाँ देश को धर्म-संप्रदाय के नाम पर बाँटने का गंदा खेल खेल रहे हैं लेकिन भारतीय खिलाड़ी समाज ऐसी गंदी मानसिकता वालों की घोर निंदा करता है| पंजाब केसरी ने लगभग हज़ार छोटे-बड़े खिलाड़ियों और खेल संघों के पदाधिकारियों से बात कर पाया कि धर्म या पंथ जैसी मानसिकता किसी को छू तक नहीं गई है|

हॉकी, फुटबॉल, कुश्ती, कबड्डी, क्रिकेट, एथलेटिक, बैडमिंटन, मुक्केबाज़ी, गोल्फ आदि लोकप्रिय खेलों मे शायद ही कभी कोई ऐसा मामला प्रकाश मे आया हो कि खिलाड़ियों ने जाति या धर्म के नाम पर पक्षपात का आरोप लगाया हो या उनके बीच किसी तरह का मन मुटाव रहा हो| देश के हॉकी प्रेमियों ने जितना प्यार और सम्मान दादा ध्यानचन्द, बलबीर, अजित पाल, अशोक कुमार,और धनराज को दिया, मोहम्मद शाहिद,ज़फ़र इकबाल, मोहम्मद असलम जैसे चैम्पियनों पर भी ठीक उतना ही प्यार लुटाया गया|

क्रिकेट मे लाला अमरनाथ, सुनील गावसकर,कपिल देव, बिशन बेदी, सचिन, अज़हर, फ़ारूख़ इंजीनियर, किरमानी, पठानबंधु और हरभजन को शायद ही कभी ऐसा महसूस हुआ हो कि टीम इंडिया में हिंदू, मुसलमान,सिख या किसी भी धर्म के आधार पर कोई भेदभाव किया जाता हो| भारतीय टेनिस के लिए विजय अमृतराज और लिएंडर पेस जीतने आदरणीय रहे सानिया मिर्ज़ा को तब भी कमतर नहीं आँका गया जब उन्होने पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ी से निकाह किया| उन्हें उतना ही आदर-सम्मान दिया जाता है, जैसा सिंधु, सायना, मैरीकाम और साक्षी को प्राप्त है| भारतीय फुटबॉल के सफलतम कोच रहीम साहब रहे क्योंकि उन्होने खिलाड़ियों को हिंदू-मुसलमान की नज़र से नहीं देखा| पीके बनर्जी, मेवा लाल, इंदर सिंह, मगन सिंह, सुनील छेत्री जैसे खिलाड़ियों के साथ जरनैल सिंह, हबीब, शबीर अली, नईम आदि का नाम भी बेहद अदब के साथ लिया जाता है|

भारतीय खिलाड़ियों का मानना है कि देश को यदि एकजुट और जाति-धर्म के विवाद से मुक्त रखना है तो अधिकाधिक बच्चों और युवाओं को खेलों से जोड़ने की ज़रूरत है, क्योंकि खिलाड़ी की कोई जाति नहीं होती| उसका धर्म सिर्फ़ खेलना और देश का गौरव बढ़ाना होता है| लेकिन कुछ एक को यह भी डर है कि गंदी सोच वाले नेता-सांसद देश के खेलों की पवित्र भावना के साथ खिलवाड़ कर सकते हैं| उनसे बचने की ज़रूरत है|

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.