टोक्यो ओलंपिक पर नजर -ओंकार सिंह

राजेंद्र सजवान
भारतीय साइक्लिस्ट के शानदार प्रदर्शन से उत्साहित साइकलिंग फ़ेडरेशन आफ इंडिया ने अब उँचे ख्वाब देखने शुरू कर दिए हैं| जिस साइकल को कुछ साल पहले पन्चर कहा जाता था अब उसकी रफ़्तार बढ़ गई है| यही कारण है कि फ़ेडरेशन ने गुवाहाटी और दिल्ली में चल रही अकाडमियों के बाद छह अन्य अकादमियाँ खोलने का फ़ैसला किया है| अब राँची, त्रिपुरा, पुणे, हैद्राबाद ,त्रिवेंद्रम और अंडमान में साइकलिंग अकादमियों के खुल जाने के बाद और बेहतर नतीजों की उम्मीद की जा सकती है|

यही कारण है कि फ़ेडरेशन ने टोक्यो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन का लक्ष्य रखा है| सभी अकाडमियों को भारतीय खेल प्राधिकरण, खेलो इंडिया और राज्य खेल बोर्ड का सहयोग मिलेगा| आज यहाँ आयोजित एक कार्यक्र्म में फ़ेडरेशन के महासचिव ओंकार सिंह ने अपने खिलाड़ियों, कोचों और अधिकारियों के टीम वर्क को सराहा और दावा किया कि 9 से 11 सितंबर तक राजधानी के इंदिरागाँधी स्टेडियम में आयोजित होने वाले ट्रैक एशिया कप 2019 में मेजबान खिलाड़ी अब तक का श्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे|

इस इवेंट में कज़ाकिस्तान, होंगकॉंग, उज़बेकिस्तान, यूएई, थाईलैंड, मलेशिया, इंडोनेशिया, ईरान, चीन, म्यानमार, सिंगापोर, नेपाल, श्रीलंका, लतविया, स्लोवाकिया, और भारत सहित 16 देश भाग ले रहे हैं| ओंकार सिंह के अनुसार चैंपियनशिप में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वालों के लिए विश्वचैंपियनशिप और टोक्यो ओलंपिक के दरवाजे खुले हैं| जाहिर है प्रतियोगी अपना श्रेष्ठ देने का प्रयास करेंगे| ओंकार सिंह के अनुसार पिछले पाँच सालों में भारतीय साइकल सवारों नें दर्शनीय प्रगति की है|

पिछले साल विश्व चैंपियनशिप में एक सिल्वर और 2019 में क्रमशः एक-एक गोल्ड, सिल्वर और ब्रांज जीत कर भारतीय साइकल ने उँची छलाँग लगाई है और भविष्य की उम्मीद जगाई है| फ़ेडरेशन महासचिव के अनुसार फिलहाल भारत को इस खेल में एक बड़े ब्रेक की ज़रूरत है| यदि टोक्यो ओलंपिक में पदक का ख़ाता खुल पाया तो भारतीय साइकलिंग की दशा दिशा बदल जाएगी|

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.