बदहाल फुटबाल

राजेंद्र सजवानभारतीय फुटबाल क्यों प्रगति नहीं कर पा रही और क्यों भारत दुनिया केT पहले 60-70 देशों में स्थान नहीं बना पा रहा, यह सवाल जब कभी फुटबाल जानकारों औ पूर्व खिलाड़ियों से पूछा जाता है तो हर कोई तपाक से बोल देता है, "फ़ेडेरेशन(एआईएफएफ) से पूछें"| यह जवाब कहीं ना कहीं देश में खेल … Continue reading बदहाल फुटबाल

प्यारे बच्चों/ विद्यार्थियों/ खिलाड़ियों (Home Corontine Part 2- essay writing competition)

आप जानते ही हैं कि हमारा देश और संपूर्ण विश्व कोरोना नामक महामारी से जूझ रहा है| स्कूल कालेज, दफ़्तर और तमाम संस्थान बंद हैं| बेशक, हम सब मिल कर कोरोना को हराने और मानव जाति को बचाने के लिए दृढ़प्रतिज्ञ हैं और यकीन मानिये कि जीत अंतत: हमारी ही होगी|दुख और अफ़सोस के साथ … Continue reading प्यारे बच्चों/ विद्यार्थियों/ खिलाड़ियों (Home Corontine Part 2- essay writing competition)

प्यारे बच्चों, खिलाड़ियों और खेल प्रेमियों!(Home Corontine, don’t worry- participate in an essay writing competition and a chance to win exciting prizes)

आप जानते ही हैं कि हमारा देश और संपूर्ण विश्व कोरोना नामक महामारी से जूझ रहा है| स्कूल कालेज, दफ़्तर और तमाम संस्थान बंद हैं| बेशक, हम सब मिल कर कोरोना को हराने और मानव जाति को बचाने के लिए दृढ़प्रतिज्ञ हैं और यकीन मानिये कि जीत अंतत: हमारी ही होगी| दुख और अफ़सोस के … Continue reading प्यारे बच्चों, खिलाड़ियों और खेल प्रेमियों!(Home Corontine, don’t worry- participate in an essay writing competition and a chance to win exciting prizes)

कैसे खेलें बेरोजगार?

राजेंद्र सजवानजब तक कोरोना का कहर थम नहीं जाता और खेल गतिविधियाँ फिर से शुरू नहीं हो जातीं, देश में खेल-खिलाड़ियों का हित चाहने वाले उनके बेहतर भविष्य के लिए योजनाएँ बना सकते हैं| मसलन खिलाड़ियों के प्रशिक्षण, सुविधाओं और रोज़गार को लेकर खेल मंत्रालय और अन्य मंत्रालय किसी ठोस योजना पर काम कर सकते … Continue reading कैसे खेलें बेरोजगार?

फुटबाल दिल्ली:चाटुकारों की ठोकर पर

राजेंद्र सजवानपिछले कुछ महीनों में दिल्ली की फुटबाल ने रफ़्तार पकड़ ली है| सब जूनियर, जूनियर, सीनियर और वेटरन खिलाड़ियों के लिए आयोजन किए जा रहे हैं, हालाँकि कोरोमा वायरस के चलते अधिकांश गतिविधियाँ रुक गई हैं| यही मौका है जब दिल्ली की फुटबाल और उसके कर्णधार बेहतरी के लिए सोच सकते हैं और अगली … Continue reading फुटबाल दिल्ली:चाटुकारों की ठोकर पर

आत्म मंथन का समय!

राजेंद्र सजवानकोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते बाकी खेलों की तरह फुटबाल गतिविधियाँ भी 31 मार्च तक स्थगित कर दी गई हैं, हालाँकि देश का सबसे बड़ा आयोजन आईएसएल जैसे तैसे संपन्न कर दिया गया है| बेशक, भारतीय फुटबाल के लिए आईएसएल सबसे महत्वपूर्ण है| फिर चाहे राष्ट्रीय फुटबाल चैंपियनशिप(संतोष ट्राफ़ी) का आयोजन हो … Continue reading आत्म मंथन का समय!