December 2, 2022

sajwansports

sajwansports पर पड़े latest sports news, India vs England test series news, local sports and special featured clean bold article.

मुम्बई सिटी एफसी बना आईएसएल का नया चैंपियन

1 min read
Mumbai City FC becomes the new champion of ISL

गोवा, 13 मार्च। जब लग रहा था कि रोमांचक मोड़ पर पहुंचा फाइनल अतिरिक्त समय तक चला जाएगा तब विपिन सिंह ने 90वें मिनट में गोल दागा जिससे मुंबई सिटी एफसी ने शनिवार को यहां एटीके मोहन बागान (एटीकेएमबी) को 2-1 से हराकर पहली बार इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) का खिताब जीता।

एटीके मोहन बागान के लिए डेविड विलियम्स ने 18वें मिनट में गोल किया, जबकि मुम्बई सिटी एफसी का पहला गोल विपक्षी टीम के खिलाड़ी टिरी ने 29वें मिनट में आत्मघाती गोल के रूप में किया। इसके बाद विपिन का गोल निर्णायक साबित हुआ।

इस हार के साथ एटीके मोहन बागान का लगातार दूसरी बार और कुल तीसरा आईएसएल खिताब जीतने का सपना टूट गया।

दोनों टीमों के बीच पहला हाफ 1-1 की बराबरी पर समाप्त हुआ। डेविड विलियम्स ने लगातार तीसरे मैच में गोल करते हुए एटीकेएमबी को आगे किया। एटीकेएमबी के लिए सबकुछ अच्छा चल रहा था लेकिन 29वें मिनट में टिरी ने आत्मघाती गोल करते हुए मुम्बई को खुश होने का कारण दे दिया।

मुम्बई की टीम का 68 फीसदी बाल पजेशन के साथ इस हाफ में वर्चस्व रहा लेकिन इसके बावजूद वह अब तक गोल नहीं कर पाई। दोनो टीमों ने दो-दो शाट्स टारगेट पर लगाए लेकिन तमाम हमलों के बावजूद दोनों टीमें एक भी कार्नर नहीं हासिल कर सकीं।

प्रीतम कोटाल द्वारा बिपिन सिंह को 11वें मिनट में पेनाल्टी एरिया में गिराए जाने पर मुम्बई ने पेनाल्टी की मांग की लेकिन रेफरी ने उसे नकार दिया। एटीकेएमबी के लिए 12वें मिनट में जेवियर हर्नांदेज ने फ्रीकिक लिया। उनका फ्रीकिक सटीक था लेकिन गेंद क्रासबार से टकराकर दिशाहीन हो गई।

विलियम्स ने हालांकि 18वें मिनट में गोल करते हुए एटीकेएमबी को आगे कर दिया। विलियम्स ने बाक्स के बाहर से बाल अपने कब्जे में लिया और फिर पोस्ट के राइट कार्नर में डालकर अपनी टीम को 1-0 से आगे कर दिया। इसके 11 मिनट बाद टिरी ने आत्मघाती गोल कर मुम्बई को बराबरी का मौका दे दिया। टिरी ने हेडर के जरिए गेंद को दिशाहीन करने का प्रयास किया था लेकिन दुर्भाग्य से गेंद पोस्ट में चली गई।

अरिंदम ने 31वें मिनट में एक बेहतरीन बचाव करते हुए मुम्बई को बढ़त लेने से रोका। एडम लेफोंड्रे और बिपिन के पास 36वें मिनट में मुम्बई को एक बार फिर बढ़त दिलाने का मौका था लेकिन बिपिन के शाट में वह दम नहीं था जो अरिंदम को छका सके।

हाफ टाइम से ठीक पहले मुम्बई के अमय राणावड़े चोटिल हो गए और उन्हें चिकित्सा सुविधा के लिए ले बाहर ले जाया गया। मुम्बई ने दूसरे हाफ में अमय की जगह मोहम्मद रकीप को मैदान पर उतारा।

मुम्बई के हुगो बोउमस 58वें मिनट में अपनी टीम को बढ़त दिलाने का गोल्डन चांस गंवा बैठे और बॉक्स के बाहर से लगाया गया उनका शॉट क्रासबार के ऊपर से निकल गया। तीन मिनट बाद ही जेवियर हर्नांडेज के फ्रीकिक पर मुम्बई के रकीप बॉल को अपने ही नेट में दे मारे, हालांकि उससे पहले ही लाइन्समैन ने इसे आफसाइड करार दे दिया क्योंकि कृष्णा आफसाइड पाए गए।

हर्नांडेज ने 72वें मिनट में बॉक्स के बाहर एक तेज तर्रार शॉट लगाया, लेकिन चौकन्ने और मुस्तैद खड़े अमरिंदर सिंह ने इसे बेहतरीन तरीके से क्लीयर करके एटीके मोहन बागान को बढ़त लेने से रोक दिया। इसके बाद भी दोनों टीमों ने अपना आक्रमण जारी रखा।

इसी बीच, 90वें मिनट में एटीके मोहन बागान के गोलकीपर अरिंदम बॉल को रोकने के प्रयास में काफी आ गए और गोलपोस्ट खाली हो गया। बार्थोमोलेव ओग्बेचे ने गोल पोस्ट के करीब ही थे और उन्होंने बॉल को बिपिन सिंह की तरफ पास दिया। इस सीजन में हैट्रिक लगाने वाले बिपिन ने शानदार तरीके से गोल करते हुए मुम्बई को 2-1 की बढ़त दिला दी।

इसके कुछ देर बाद ही रेफरी के अंतिम व्हिसल बजाने के साथ ही मुम्बई सिटी एफसी के सभी खिलाड़ी और स्पोर्ट स्टाफ खुशी से झूम उठे और उन्होंने 2-1 की जीत के साथ आईएसएल में पहली बार चैम्पियन बनने का गौरव हासिल कर लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.